Updates
Email us: watansamachar@gmail.com

यह वक़्त सब को साथ लेकर चलने का है: तारिक

Ahmad Mohammad
Aligarh Muslim University Old Boys Association Lucknow Chaptter election completes, Tariq become president, demand for punishment for university victims

 

 

लखनऊ: अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय ओल्ड बॉयज एसोसिएशन लखनऊ चैप्टर का बीते दिनों चुनाव सम्पन्न हुआ, जिस में मशहूर सियासी व सामाजिक कार्यकर्ता तारिक़ सिद्दीकी को अध्यक्ष चुना गया जबकि तारिक फैय्याज को उपाध्यक्ष जावेद इकबाल सिद्दीकी को महासचिव  ऑनरेरी सचिव मोहम्मद गुफरान और शहला हक को जॉइंट सेक्रेटरी मोहम्मद फहीम को कोषाध्यक्ष के साथ अनवर हबीब अलवी कफील वोरा अहमद हुसैन माधव सक्सेना हिना जाफरी मोहम्मद शोएब सबीहा अहमद आफताब पठान और आतिफ हनीफ को एग्जीक्यूटिव मेंबर के तौर पर चुना गया, जबकि यूनुस सिद्दीकी को सदस्य के साथ कुल 24 सदस्यों का चुनाव अमल में आया.

 

 

सुहैल अहमद फारूकी और अरुण माथुर को स्पेशल इनवाईटी के तौर पर चुना गया. ज्ञात रहे कि सभी सदस्यों का निर्विरोध चुनाव अमल में आया.

 

 इस अवसर पर नवनिर्वाचित अध्यक्ष मोहम्मद तारिक सिद्दीक़ी और महासचिव जावेद ने आउट-गोइंग अध्यक्ष मुमताज अहमद IPS उपाध्यक्ष ए के माथुर जनरल सेक्रेटरी डॉक्टर शकील किदवाई का शुक्रिया अदा करते हुए कहा कि 40 साल पुरानी इस संस्था के 1400 लाइफ सदस्यों ने जो भरोसा जताया है उसे किसी भी सूरत में टूटने नहीं देंगे.

 

उन्होंने कहा कि मैं अपने 1400 सीनियर और जूनियर साथियों को इस बात के लिए आमादा करूंगा कि वह लखनऊ के विकास में अपना पूरा पूरा सहयोग दें, जिससे लखनऊ के वासियों की जिंदगी और बेहतर हो सके. उन्होंने इस अवसर पर बताया कि हमने अगले 1 साल का प्लान ऑफ़ एक्शन भी तय्यार किया है. उन्हों ने कहा कि सभी पुराने पदाधिकारियों से बात चीत और मशवरा करते रहेंगे, जिससे सिस्टम को समझने और लोगों की सेवा करने में मदद मिल सके.

 

 

 

उन्होंने कहा कि अब अकेले चलने का समय नहीं है, बल्कि सबको साथ लेकर चलने का वक़्त है. कोई भी संस्था या सोसाइटी उसी वक्त कामयाब होती है जब वह सबको साथ लेकर चलने में विश्वास रखती हो, और जुबान के साथ-साथ जमीन पर भी इसको उतारने की क्षमता रखती हो.

 

 

 

 

 

तारिक सिद्दीकी ने बताया कि सदस्यों का चुनाव होने के बाद अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में बीते दिनों जो कुछ हुआ है उसकी घोर निंदा करते हुए हम ने यह परस्ताव पारित किया है कि जिन गुंडों ने अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय की शांति भंग करने और विश्वविद्यालय का अपहरण करने की कोशिश की है उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि मीटिंग में यह पास हुआ है कि जिन पुलिस वालों ने बेगुनाह बच्चों पर लाठी अटैक किया है उनको सरकार सजा दे और उनकी जवाबदेही तय हो.

 

 उन्होंने कहा कि जो गुरुप अमुवि को बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं, उनके खिलाफ भी हम ने कार्यवाही की मांग की है और इसको लेकर हम आगे भी काम करते रहेंगे.

You May Also Like

Notify me when new comments are added.

धर्म

ब्लॉग

अपनी बात

Poll

Should the visiting hours be shifted from the existing 10:00 am - 11:00 am to 3:00 pm - 4:00 pm on all working days?

SUBSCRIBE LATEST NEWS VIA EMAIL

Enter your email address to subscribe and receive notifications of latest News by email.