Updates

भविष्य को संवारने की सही उम्र यही है: अनीसुर्रहमान

सरकारी स्कूल मे पढ़ने वाले गरीब बच्चो के लिए फ्री ट्यूशन CLASS 9TH AUR 10TH शुरू की गयी है जो ट्यूशन फीस न होने की वजह से ट्यूशन नहीं पढ़ पाते है

By: Watan Samachar Desk

सेंट्रल दिल्ली: सेंट्रल दिल्ली के पटौदी हाउस इलाके मे BSES यमुना पावर Ltd. व सोफ़िया educational and welfare society ने मिलकर सरकारी स्कूल मे पढ़ने वाले गरीब  बच्चो  के लिए फ्री ट्यूशन CLASS 9th and 10th  शुरू  की जो  ट्यूशन फीस न होने की वजह से ट्यूशन नहीं पढ़ पाते है. इस सेंटर का  उद्घाटन  करने  के  लिए  अनीसुर्रहमान (अतिरिक्त उपायुक्त उत्तरी एम. सी. डी.) व सारिका चौधरी ( member delhi commission for women)  मौजूद  रहीI इस के साथ साथ सोफ़िया संस्था ने फेविकोल  कंपनी के साथ मिलकर आर्ट एंड क्राफ्ट की प्रदर्शनी का भी आयोजन किया जिसमे करीब 90 लड़कियों के अपने ट्रेनिंग के दौरान सीखे गए आर्टिकल की प्रदर्शनी की.

DRJ1.jpeg

इस मौके पर अनीसुर्रहमान ने कहा कि बच्चो के लिए 13 साल से ले कर  18  साल  तक  का  समय  बहुत  मायने  रखता  है  इस  समय  का  बिलकुल  सही  इस्तेमाल  करना  चाहिए  और  बिलकुल  सही  इस्तेमाल सिर्फ  पढ़ाई  मे  पूरी तरह से ध्यान लगाना है. ये बिलकुल सही है कि पैसों  की  कमी  के  कारण  काफी  बच्चे  ट्यूशन  नहीं ले  पाते  हैं और पढाई मे कमजोर हो जाते हैं जिसका असर उनके परिणाम पर पड़ता है.  BSES के द्वारा ट्यूशन सेंटर की  शुरुआत एक अच्छी पहल है और कंपनी के पैसे का बिलकुल सही इस्तेमाल है और इस इलाके के  बच्चो को इसका  भरपूर फायदा लेना चाहिए जिससे बच्चे अपने लक्ष्य को पाने मे कामयाब हो सकें.

DRJ3.jpeg

सारिका चौधरी ने कहा कि आज के माहौल मे ट्यूशन सेंटर तक बच्चे को भेजना भी मुश्किल हो गया है क्योंकि दिल्ली मे पिछले कुछ सालो में क्राइम की संख्या बढ़ी है या ये कहिये कि केस रिपोर्ट होने लगे हैं आप को  कभी भी इस  ट्यूशन सेंटर तक आने जाने मे कोई भी  परेशानी  हो  तो  आप  बिना  झिझक  दिल्ली  महिला  आयोग  को 181  पर कॉल करके जानकारी दे सकते हैं आयोग आपकी पूरी मदद करेगा.

इस मौके पर सुहैल सैफ़ी ने कहा कि हमारा काम कंपनी के साथ मिलकर इलाके के बच्चों को अनुभवी अध्यापकों के द्वारा ट्यूशन देने के साथ साथ उनका सही मार्गदर्शन करना भी है जिससे भविष्य में क्या करना  है क्या  नहीं करना है का ज्ञान हो सके.

इस मौके पर सलमा फ्रांसिस, हाजी ज़ाहिद अली, सर्वेश, सादिया, रफत, नमरा, सरफराज सैफ़ी, शाह आलम, नासिर, जोगिन्दर, कृति खन्ना, निधि आदि मौजूद रहे.

You May Also Like

Notify me when new comments are added.

धर्म

ब्लॉग

अपनी बात

Poll

Should the visiting hours be shifted from the existing 10:00 am - 11:00 am to 3:00 pm - 4:00 pm on all working days?

SUBSCRIBE LATEST NEWS VIA EMAIL

Enter your email address to subscribe and receive notifications of latest News by email.