Updates

Hindi Urdu

दो से दोबारा सत्ता में आये मोदी, गुरु का पांव छू कर लिया आशीर्वाद

बीजेपी कांग्रेस के बाद ऐसी दूसरी अकेली पार्टी है जिसने 300 सीट की जीत का आंकड़ा टच किया है. पिछले चुनाव में भी बीजेपी ने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया था और उसे अकेले ही 282 सीटें मिली थीं, जबकि इस बार 21 सीटें ज्यादा जीत कर रिकॉर्ड बना दिया है.

By: MOHAMMAD AHMAD

 17वीं लोकसभा के गठन को लेकर 7 चरणों में कराए गए मतदान की गिनती 23 मई को हुई. वेल्लौर लोकसभा सीट पर चुनाव स्थगित कर दिया गया था.

 

नयी दिल्ली: प्रधानमंत्री मोदी की अगुवाई में एनडीए इतिहासिक प्रदर्शन कर फिर से सत्ता में आगया है. एनडीए की यह जीत 5 साल पहले की तुलना में ज्यादा बड़ी और तारीखी है. भारतीय इतिहास में बीजेपी ने पहली बार 300 या उस से ज्यादा सीटें जीती हैं. जबकि 2014 में बीजेपी 300 का आंकड़ा पार नहीं कर पायी थी. 300 सीट मिलने के बाद मोदी ने अपने विक्ट्री भाषण में कहा कि दो से दोबारा.

 

 ज्ञात रहे कि एक समय था जब बीजेपी दो सीटों पर सीमित रहती थी और 1977 में एक समय ऐसा भी आया जब जनसंघ को जनता पार्टी में मर्ज (विलय) कर दिया गया था और फिर जनता पार्टी के बिखराव के बाद बीजेपी की स्थापना हुयी.

MODI_ADVANI.jpg

बीजेपी कांग्रेस के बाद ऐसी दूसरी अकेली पार्टी है जिसने 300 सीट की जीत का आंकड़ा टच किया है. पिछले चुनाव में भी बीजेपी ने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया था और उसे अकेले ही 282 सीटें मिली थीं, जबकि इस बार 21 सीटें ज्यादा जीत कर रिकॉर्ड बना दिया है.

 

गठबंधन के आधार पर बात करें तो बीजेपी की अगुवाई वाले एनडीए के खाते में 351 सीटें मिलीं, जबकि कांग्रेस नीत यूपीए के खाते में 91 सीटें आई हैं. और शेष अन्य को 100 सीटें मिलीं. 2014 के चुनाव में 8 राजनीतिक दलों ने जीत की दहाई लगाई थी, लेकिन इस बार 9 दलों ने 10 के आंकड़े को छुआ. हालांकि पिछले चुनाव में 2 दलों को 9-9 सीटें मिली थीं.

 

इस चुनाव में कांग्रेस दूसरी सबसे बड़ी पार्टी है. उसने 52 सीटें जीती हैं. जबकि पिछली बार उसे 44 सीटें मिली थीं. तीसरी सबसे सफल पार्टी द्रविड़ मुनेत्र कडगम (डीएमके) है जिसने तमिलनाडु में 23 सीटों पर कब्जा जमाया है. यहां इसका कांग्रेस के साथ गठबंधन था. 2014 के चुनाव में चौथी सबसे सफल पार्टी का दर्जा ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस के पास था और इस बार भी सबसे ज्यादा सीट जीतने के मामले में वह चौथे स्थान पर रही. पहले 34 सांसद लोकसभा पहुंचे थे, लेकिन इस बार वह महज 22 सीटों पर सिमट गई.

 

YSR का जलवा

 

 आंध्र प्रदेश में 22 सीटों पर जीत हासिल करने वाली वाईएसआर कांग्रेस पार्टी है और वह पांचवें स्थान पर है.  22 में से 21 सीटों पर उसका कब्जा है. 18 सीटों के साथ छठे स्थान पर शिवसेना है. एनडीए की सहयोगी जनता दल (यूनाइटेड), जेडीयू इस चुनाव में सातवीं सबसे सफल पार्टी है और उसे 16 सीटों पर जीत मिली है, जबकि उसने 17 सीटों पर चुनाव लड़ा था.

 

बीजू जनता दल (12) बहुजन समाज पार्टी (10) दो अन्य सफल दल हैं जिन्हें 10 या उससे ज्यादा सीटों पर जीत हासिल हुई है. रामविलास पासवान की लोक जनशक्ति पार्टी को 6, समाजवादी पार्टी और एनसीपी को 5-5 सीटें मिली हैं. 15 दलों को 1-1 सीट, 4 दलों ने 2-2 और 4 दलों को 3-3 सीट मिली है. 4 सीटें निर्दलीय उम्मीदवारों के खाते में गई हैं.

You May Also Like

Notify me when new comments are added.

धर्म

ब्लॉग

अपनी बात

Poll

Should the visiting hours be shifted from the existing 10:00 am - 11:00 am to 3:00 pm - 4:00 pm on all working days?

SUBSCRIBE LATEST NEWS VIA EMAIL

Enter your email address to subscribe and receive notifications of latest News by email.