Updates

राहुल की इफ्तार पार्टी से उड़ी सरकार की नींद, विपक्ष ने दिखाई ताक़त

Ahmad Mohammad
Shared a light hearted evening with Congress persons, opposition leaders and other guests at the Iftar organised for them: Rahul Gandhi

नयी दिल्ली: वर्षों से चली आ रही कांग्रेस पार्टी की परंपरागत इफ्तार पार्टी पर 2015 के बाद अचानक विराम लग गया था. उस वक्त कांग्रेस पार्टी की कमान सोनिया गांधी के हाथ में थी, लेकिन पार्टी की कमान संभालने के बाद पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने दोबारा इफ्तार पार्टी की आज शुरुआत की.

TARIQ_SIDDIQUI.jpg

Iftar hosted by AICC President Rahul Gandhi and President Minority Department AICC Nadeem Javed at hotel Taj Palace Delhi, Siraj Abbasi ,Dr Prof. Kausar Uthman, Youth Leader Tariq Siddiqui, Maulana Zaheer Ahmad Siddiqui Nadwi, Youth congress leader Saif Naqvi and Sandip Jain sb CEO KRM Tyre.


दिखी विपक्ष की ताक़त 

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की इफ्तार में पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी एवं प्रतिभा पाटिल और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के अलावा कई विपक्षी दलों के नेताओं ने शिरकत की। इफ्तार में शामिल होने वालों में पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी, माकपा महासचिव सीताराम येचुरी, शरद यादव, तृणमूल कांग्रेस के दिनेश त्रिवेदी, राजद के मनोज झा, बसपा के सतीश मिश्रा, जद (एस) के दानिश अली, टीआरएस की के. कविता, झामुमो के हेमंत सोरेन, राकांपा के डीपी त्रिपाठी और एआईयूडीएफ के बदरुद्दीन अजमल प्रमुख रहे।

 मुखर्जी के शामिल होने का खासा महत्व 

 

इस इफ्तार में कांग्रेस के सभी वरिष्ठ नेता नजर आए। सियासी गलियारों में इस इफ्तार को विपक्षी एकजुटता की दिशा में बढ़ाये गए कदम के तौर भी देखा जा रहा है। गौरतलब है कि कांग्रेस अध्यक्ष की इफ्तार में मुखर्जी के शामिल होने का इस मायने में खासा महत्व है कि कुछ दिनों पहले ही पूर्व राष्ट्रपति आरएसएस के एक कार्यक्रम में शामिल हुए थे जिसको लेकर कांग्रेस के कई नेताओं और उनकी बेटी शर्मिष्ठा मुखर्जी ने सवाल खड़े किए थे।

 कांग्रेस ने दो साल के अंतराल के बाद इफ्तार का आयोजन किया है। इफ्तार ताज पैलेस होटल में हुआ। राहुल गांधी की आज की इफ्तार पार्टी में जहां विपक्ष के कई बड़े नेता उपस्थित थे, वहीं रूस समेत कई देशों के राजनयिकों को  भी देखा गया.

आम आदमी पार्टी एक शक्ति 

अहम् बात यह है कि आम आदमी पार्टी को राहुल गांधी की इफ्तार पार्टी में दावत नहीं दी गई थी. इसी वजह से आम आदमी पार्टी की ओर से कोई नेता राहुल की इफ्तार पार्टी में उपस्थित नहीं हुआ. इस पूरे मामले पर कांग्रेस की ओर से कोई नेता बोलने को तैयार नहीं है. माना जा रहा है कि कांग्रेस का शीर्ष नेतृत्व दिल्ली में आम आदमी पार्टी से दूरी बनाए रखने के पक्ष में है.

कांग्रेस की सियासी भूल

सियासी जानकार इसे कांग्रेस पार्टी की भूल बता रहे हैं. जानकारों का मानना है कि अगर कांग्रेस पार्टी को दिल्ली में कुछ करना है तो उसे आम आदमी पार्टी का साथ लेना ही होगा. क्योंकि आम आदमी पार्टी एक शक्ति है इसे नकारा नहीं जा सकता है.

ऐसी इफ्तार पार्टी कई मानों में अहम्: तारिक़ 

राहुल की इफ्तार पार्टी में लखनऊ से आए उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी अल्पसंख्यक डिपार्टमेंट के पूर्व चेयरमैन और राहुल गांधी के इनिशिएटिव पर ही बनाए गए UPCC के रिसर्च प्लानिंग एंड एनालिसिस विंग के फाउंडर चेयरमैन तारिक सिद्दीकी ने बताया कि ऐसी इफ्तार पार्टियां कई मायनों में काफी अहम हैं. उनका कहना था कि इस तरह की पार्टियों का आयोजन होने से लोगों को एक दूसरे के साथ उठने बैठने का मौका मिलता है. लोगों के सुख दुख को समझने और उनके साथ बातचीत का अवसर प्रदान होता है, जिससे बड़े-बड़े मसाइल आसानी से हल हो सकते हैं.

नदीम जावेद और उन की टीम का शुक्रिया 

 तारिक़ ने अखिल भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस अल्पसंख्यक डिपार्टमेंट के चेयरमैन नदीम जावेद का शुक्रिया अदा करते हुए कहा कि नदीम जावेद और उनकी टीम बधाई की पात्र है, जिन्होंने इतने कम समय में इतने बड़े प्रोग्राम का आयोजन किया. उन्होंने कहा कि अच्छी बात यह है कि इस टीम को पार्टी के वरिष्ठ नेताओं अशोक गहलोत, अहमद पटेल समेत सभी दिग्गजों का समर्थन हासिल है जो इतिहासिक है. उन्हों ने कहा कि इसी तरह कांग्रेस को एक टीम की तरह काम करना होगा तभी 2019 में संविधान विरोधी शक्तियों को खदेड़ा जा सकता है.

You May Also Like

Notify me when new comments are added.

धर्म

ब्लॉग

अपनी बात

Poll

Should the visiting hours be shifted from the existing 10:00 am - 11:00 am to 3:00 pm - 4:00 pm on all working days?

SUBSCRIBE LATEST NEWS VIA EMAIL

Enter your email address to subscribe and receive notifications of latest News by email.