GDP: चिदंबरम का PM पर तंज- मुख्य आर्थिक सलाहकार भी स्टूपिड हैं?

watansamachar desk


जीडीपी को लेकर पक्ष और विपक्ष के दरमियान आरोप प्रत्यारोप का दौर जारी है. पहली तिमाही में जीडीपी दर 5.7 होने के बाद जुलाई-सितंबर की जीडीपी दर 6.3 आई है, जिसे मोदी सरकार अपनी सबसे बड़ी कामयाबी के तौर पर देख रही है. मोदी सरकार का कहना है कि अर्थव्यवस्था लगातार बेहतर हो रही है. मोदी सरकार के दावों के दौरान पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने मोदी सरकार पर जमकर पलटवार किया है

चिदंबरम ने कहा कि मोदी सरकार ने जो वादा किया था, उस से 6.3 प्रतिशत की विकास दर बहुत दूर है। भारत की जीडीपी जुलाई-सितंबर तिमाही में सुधरकर 6.3 प्रतिशत पर पहुंच गई है। पहली तिमाही में यह 5.7 प्रतिशत थी। मोदी सरकार की आर्थिक नीतियों के कड़े आलोचक माने-जाने वाले चिदंबरम ने कहा कि यह अच्छा है कि जीडीपी में गिरावट का ट्रेंड रुक गया है, जो पिछले 5 महीनों से चलता आ रहा था।

इससे पहले जीएसटी की अधिकतम सीमा 18 फीसदी तय करने संबंधी कांग्रेस की मांग की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा आलोचना किए जाने के बाद गुरुवार को चिदम्बरम ने सवाल किया कि क्या यही राय रखने वाले सरकार के मुख्य आर्थिक सलाहकार भी स्टूपिड हैं। चिदंबरम ने ट्वीट कर कहा, अगर टैक्स दर को अधिकतम 18 प्रतिशत तय करने की दलील ग्रैंड स्टूपिड थॉट (बहुत बकवास विचार) है तो क्या अरविंद सुब्रमण्यम और अन्य कई अर्थशास्त्री भी स्टूपिड हैं। क्या प्रधानमंत्री ऐसा कह रहे हैं?


क्या आपको ये रिपोर्ट पसंद आई? हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं. हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *