गुजरात: मुसलमानों के घरों पर लगाये गए क्रॉस के निशान?

एआईएमआईएम ने कहा है कि इन सबके पीछे कौन है, इसकी जांच होनी चाहिए

watansamachar desk


गुजरात चुनावों से पहले एक हैरतअंगेज मामला सामने आया है। सोशल मीडिया के अनुसार सोमवार को अहमदाबाद के कुछ इलाकों में मुस्लिमों के घरों के बाहर एक्स या क्रॉस के निशानों वाले पोस्टर्स दिखाई दिए हैं। जिस के बाद राजनीती शुरू हो गयी है. और यहाँ के मुसलमान दहशत में हैं.

बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा,’कांग्रेस राज्य में अपना बेस गंवा चुकी है और वोट पाने के लिए ऐसे हथकंडों का सहारा ले रही है’। एआईएमआईएम ने कहा है कि इन सबके पीछे कौन है, इसकी जांच होनी चाहिए। आरएसएस विचारक राकेश सिन्हा ने कहा कि ‘एक्स’ का निशान कांग्रेस की पुरानी राजनीति. उन्होंने गुजारिश करते हुए कहा कि वह हिंदू और मुस्लिमों के बीच दूरी न बढ़ाए। ज्ञात रहे की गुजरात में दो चरणों में विधानसभा चुनाव होने हैं। पहले चरण का मतदान 9 दिसंबर और दूसरे का 14 दिसंबर को होगा। गुजरात और हिमाचल प्रदेश के नतीजे 18 दिसंबर को घोषित किए जाएंगे।

टाइम्स नाउ के मुताबिक क्रॉस या एक्स का निशान सामने आने के बाद रिहायशी अल्पसंख्यकों में तनाव फैल गया है। इलाके के मुस्लिमों के घरों के बाहर लगे इन निशानों के बारे में लोगों ने स्थानीय प्रशासन को सूचित किया है।

बीजेपी ने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि को खराब करने का आरोप लगाया है। वहीं कांग्रेस ने दावा किया है कि बीजेपी सांप्रदायिक ध्रुवीकरण करना चाहती है।

गुजरात की राजनीति में गंदी सीडी, हार्दिक पटेल बोले- मुझे बदनाम कर लो… कोई फर्क नहीं पड़ेगा

इसके अलावा गुजरात के पाटीदार आरक्षण आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल की कथित तौर पर एक सीडी लीक होने से भी हंगामा मचा हुआ है। हार्दिक पटेल ने हफ्ते भर पहले ही एक न्यूज़ चैनल से बात करते हुए इस तरह की सीडी के सामने आने की बात की शंका जताई थी। यह सीडी गुजरात के लोकल न्यूज़ चैनल्स पर टेलीकास्ट हो रही हैं। ज्ञात रहे की वतन समाचार डाट कॉम इस सी डी की किसी भी हाल में पुष्टि नहीं करता है। वीडियो के सामने आने के बाद हार्दिक पटेल ने ट्वीट करते हुए लिखा था- अब गंदी राजनीति की शुरुआत हो गई है।


क्या आपको ये रिपोर्ट पसंद आई? हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं. हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *