Updates

हज 2018: मक्का में भारत-सऊदी अरब के बीच द्विपक्षीय समझौते पर हस्ताक्षर

||||

Administrators

सऊदी अरब के मक्का में हज 2018 के सम्बन्ध में भारत-सऊदी अरब के बीच द्विपक्षीय समझौते पर हस्ताक्षर : [caption id="attachment_3527" align="alignnone" width="1160"] Group photo of India and Saudi govt minister and officers[/caption] नई दिल्ली, 08 जनवरी, 2018: केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने आज कहा कि भारत से पानी के जहाज के द्वारा हज यात्रा को सऊदी अरब की सरकार ने हरी झंडी दे दी है. उन्हों ने बताया कि दोनों देशों के सम्बंधित अधिकारी आवश्यक औपचारिकताओं व तकनीकी पहलुओं पर काम शुरू करेंगे, ताकि आने वाले वर्षों में हज यात्रा को पानी के जहाज से भी दोबारा शुरू किया जा सके। [caption id="attachment_3528" align="alignnone" width="1160"] Haj 2018: Signing of bilateral agreement between India and Saudi Arabia in Mecca[/caption] ज्ञात रहे कि इस से पहले भी सरकार की ओर से इस बात का इशारा दिया जाचुका है, लेकिन सरकार ने सीरिया पोर्ट के साथ सऊदी पोर्ट को ले कर चिंता प्रकट करते हुए कहा था कि अभी तक सऊदी ने अपने पोर्ट इस्तेमाल करने की मंजूरी नहीं दी है, और सीरिया में कुछ दिक्क़त आने की संभावना है. [caption id="attachment_3529" align="alignnone" width="1280"] from right chairman HCOI and MP, LJP Mahboob Ali Qaisar and Minister of Minority affairs Govt of India Mukhtar Abbas Naqvi during PC[/caption] कल सऊदी अरब के मक्का में नकवी ने सऊदी अरब के हज एवं उम्रा मंत्री डॉ. मुहम्मद सालेह बिन ताहेर बेन्तेन के साथ हज 2018 के सम्बन्ध में द्विपक्षीय समझौते पर हस्ताक्षर किए। इस दौरान सऊदी अरब सरकार ने भारत से पानी के जहाज से भी हज यात्रा को दोबारा शुरू किये जाने को हरी झंडी दी। [caption id="attachment_3530" align="alignnone" width="1024"] Minister of Minority affairs Mukhtar Abbas Naqvi Govt. of India, HCOI chairman Mahboob Ali Qaisar and indian officer with Saudi Haj Minister[/caption] नकवी ने कहा कि हज यात्रियों के मुंबई से समुद्री मार्ग के जरिये जेद्दा जाने का सिलसिला 1995 में रुक गया था। हज यात्रियों को जहाज (समुद्री मार्ग) से भेजने पर यात्रा संबंधी खर्च काफी कम हो जाएगा। नई तकनीक एवं सुविधाओं से युक्त पानी का जहाज एक समय में चार से पांच हजार लोगों को ले जाने में सक्षम हैं। मुंबई और जेद्दा के बीच 2,300 नॉटिकल मील की एक ओर की दूरी सिर्फ 3-4 दिनों में पूरी कर सकते हैं। जबकि पहले पुराने जहाज से 12 से 15 दिन लगते थे। नकवी ने कहा कि पानी के जहाज से भी हज यात्रा को दोबारा शुरू किये जाने को ले कर पिछले ही वर्ष उनकी परिवहन एवं जहाजरानी मंत्री नितिन गडकरी से भी मीटिंग हुई थी। नकवी ने कहा कि भारत और सऊदी अरब के अधिकारी पानी के जहाज से हज यात्रा को शुरू करने के मुद्दे पर विस्तार से सभी तकनीकी पहलुओं पर चर्चा करेंगे और हमारी कोशिश है कि आने वाले वर्षों में भारत से पानी के जहाज से भी हज यात्रा को दोबारा शुरू किया जा सके। नकवी ने कहा कि इस बार हज 2018 शत प्रतिशत डिजिटल/ऑनलाइन कर दिया गया है। भारत की इस पारदर्शी, सरल एवं डिजिटल हज व्यवस्था की सऊदी अरब की सरकार ने सराहना की है। नकवी ने कहा कि भारत से पहली बार मुस्लिम महिलाएं बिना "मेहरम" (पुरुष रिश्तेदार) के हज पर जाएँगी। नकवी ने कहा कि बिना "मेहरम" के हज पर जाने वाली महिलाओं के लिए सऊदी अरब में ठहरने के लिए अलग बिल्डिंगों एवं यातायात की व्यवस्था की गई है। इन महिला हज यात्रियों के सहयोग के लिए महिला "हज असिस्टेंट" रहेंगी। नकवी ने कहा कि 1300 से ज्यादा महिलाओं ने बिना "मेहरम" हज पर जाने के लिए आवेदन किया है और इन सभी को लॉटरी सिस्टम से बाहर रख कर हज पर जाने की व्यवस्था की जाएगी। नई हज नीति के तहत 45 वर्ष से अधिक की उम्र की महिलाएं 4 या ज्यादा के समूह में बिना "मेहरम" हज पर जा सकती हैं। नकवी ने बताया कि सऊदी अरब के हज एवं उमरा मंत्री डॉ. मुहम्मद सालेह बेन्तेन से उनकी मुलाकात बहुत सकारात्मक एवं सार्थक रही जिसमे हज 2018 के दौरान हज यात्रियों के लिए यातायात, निवास, सुरक्षा व्यवस्था आदि से सम्बंधित विभिन्न मुद्दों पर विस्तारपूर्वक चर्चा हुई। नकवी ने हज 2017 को कामयाब बनाने में महत्वपूर्ण मार्गदर्शन देने के लिए दो पवित्र मस्जिदों के सरबरा सऊदी अरब के किंग सलमान बिन अब्दुल अज़ीज़ आले सऊद को धन्यवाद दिया। साथ ही हज से सम्बंधित विभिन्न एजेंसियों को भी धन्यवाद दिया। नकवी ने कहा कि हज भारत-सऊदी अरब के द्विपक्षीय संबंधों का एक मजबूत स्तम्भ है। नकवी ने कहा कि सऊदी अरब के किंग हिज़ एक्सेलेंसी सलमान बिन अब्दुल अज़ीज़ अल सऊद के नेतृत्व में भारत-सऊदी अरब के संबंधों को और मजबूती, नई ऊंचाई मिलेगी। नकवी ने कहा कि भारत और सऊदी अरब वैश्विक शांति, समृद्धि के आदर्शों को साझा करते हैं। दोनों देशों के बीच मजबूत सांस्कृतिक, आर्थिक, राजनीतिक सम्बन्ध हैं जो दोनों देशों के नेताओं और वरिष्ठ अधिकारियों के दौरों से और मजबूत हुए हैं। नकवी ने कहा कि अप्रैल 2016 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सऊदी अरब की यात्रा से दोनों देशों के आपसी संबंधों को नई ऊर्जा मिली है। नकवी ने कहा कि हज 2018 के लिए लगभग 3 लाख 55 हजार आवेदन प्राप्त हुए हैं। पहली बार हज यात्रियों को अपने मूल इम्बार्केशन पॉइंट के अलावा किसी एक अन्य इम्बार्केशन पॉइंट से भी जाने की सुविधा दी गई है जिसके उत्साहवर्धक नतीजे आए हैं।

You May Also Like

Notify me when new comments are added.

धर्म

ब्लॉग

अपनी बात

Poll

Should the visiting hours be shifted from the existing 10:00 am - 11:00 am to 3:00 pm - 4:00 pm on all working days?

SUBSCRIBE LATEST NEWS VIA EMAIL

Enter your email address to subscribe and receive notifications of latest News by email.