पहले प्यार में …हुए तारिक अनवर

watansamachar desk
[simple-social-share]


(वतन समाचार एक्सक्लुसिव)

नई दिल्ली: कहते हैं कि इंसान कभी अपना पहला प्यार नहीं भूलता. यह कहावत सियासत की दुनिया में फिट बैठती हैं जहां रोजाना समीकरण बनते-बिगड़ते हैं.

बीते बुधवार (7 फरवरी) को लोकसभा में एनसीपी के वरिष्ठ नेता तारिक को जिन लोगों ने देखा उनको यही कहावत याद आ गई.

मीडिया गैलरी में बैठे एक पत्रकार ने ‘वतन समाचार’ को पूरा किस्सा बयां किया.

दरअसल, बजट पर चर्चा के दौरान कांग्रेसी नेता वीरप्पा मोइली बोल रहे थे, लेकिन बीजेपी के सदस्य हंगामा कर रहे थे क्योंकि पीएम मोदी के भाषण के दौरान कांग्रेस के सदस्यों ने हंगामा किया था.

विपक्ष की तरफ सोनिया गांधी के ठीक पीछे बैठे अनवर बिल्कुल अलग अंदाज में दिखे. नारेबाजी के बीच वह बीजेपी सदस्यों से तीखी नोकझोंक करते दिखे.

बीजेपी के सदस्यों ने जब ‘कांग्रेस मुर्दाबाद’ और ‘सोनिया गांधी हाय हाय’ के नारे लगाए तो तारिक अनवर और उत्तेजित हो गए. लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने तारिक अनवर को शांत कराया.

पत्रकार तारिक अनवर के इस रुख को लेकर तरह तरह के कयास लगा रहे हैं. कुछ पत्रकार यह कहते दिखे की तारिक साहब को अपने पहले प्यार (कांग्रेस) की तौहीन पसन्द नहीं आ रही है.

कुछ लोग यह भी कह रहे हैं कि यह सब नए बदलाव का संकेत और अगली बार तारिक अनवर राहुल गांधी के साथ कंधे से कंधा मिला सकते हैं.

गौरतलब है कि अपनी सियासी जिंदगी का बड़ा हिस्सा कांग्रेस के नाम करने वाले तारिक अनवर ने 1999 में शरद पवार और पीए संगमा के साथ मिलकर एनसीपी की बुनियाद रखी थी.

कांग्रेस में रहने के दौरान तारिक अनवर को वह रूतबा हासिल था जो 2004 से 2014 के बीच में शायद अहमद पटेल को भी हासिल नहीं था.


क्या आपको ये रिपोर्ट पसंद आई? हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं. हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें.


[simple-social-share]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *